Monday, June 13, 2016

तकनीक से खारा पानी होगा मीठा, मिटेगी पानी की समस्या


सिरामिक एवं नैनो तकनीक की सहायता से खारा पानी होगा मीठा, मिटेगी पानी की समस्या। देश भर में अनेक स्थानों में विशेष कर राजस्थान जैसे प्रदेश में पानी की बहुत समस्या है. बहुत से स्थान ऐसे भी हैं जहाँ पानी तो है परन्तु खारा है. यह पानी न तो पीने के काम आता है, न जानवरों को पिलाने में और न ही खेती में. ऐसी स्थिति में यह जल होने न होने जैसा है.

 युवा बैज्ञानिक डा. राहुल लोढ़ा ने इस का समाधान खोजा है. डा राहुल लोढ़ा ने सिरामिक तकनीक में कनाडा से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है.  उनके शोध का विषय था "Synthesis and sintering of chromium-free complex spinels in the MgO-Al2O3-FeOx-Me4+O2 systems".

इस शोध की सहायता से पानी से जहरीले पदार्थों को दूर करने में भी मदद मिलती है. इस शोध पर उन्हें अमरीका से पेटेंट भी प्राप्त हो रहा था. परन्तु गौरतलब बात ये है की उन्होंने इसका पेटेंट ले कर निजी लाभ कमाने के बजाय इसे सभी के लिए खुल छोड़ दिया. इस प्रकार व्यापक जनहित में उठाया गया उनका ये बड़ा कदम था.

खारे पानी की वनस्पति 
तकनीकी क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ने वाली वर्धमान इंफोटेक, जयपुर के आमंत्रण पर डा. राहुल लोढ़ा यहाँ पधारे। दो दिन के उनके जयपुर प्रवास में खारे पानी को मीठा करने की तकनीक के सम्वन्ध में विचार विमर्श हुआ. वर्धमान इंफोटेक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दर्शन कोठारी ने उनके इस शोध में पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया।

उम्मीद की जा सकती है की सिरामिक एवं नैनो तकनीक के उपयोग से जो संयन्त्र बनेगा वो खारे पानी की समस्या को बहुत हद तक दूर कर पाएगा। यह तकनीक बहुत ही सस्ता है एवं इस संयन्त्र को सीधे पम्प से जोड़ कर खारे पानी को मीठा किया जा सकेगा। इससे ख़ास कर किसानों को बहुत लाभ होगा जो की खारे पानी को सिंचाई में उपयोग नहीं ले सकते। संयंत्र सस्ता होने के कारण इसे साधारण किसान भी खरीद कर उपयोग में ले सकते हैं.

Vardhaman Infotech

eCommerce and Mobile Application development 
Jaipur, Rajasthan, India
E-mail: info@vardhamaninfotech.com


आइये हम सब मिलकर पानी बचाएं, इसका दुरूपयोग बंद करें


No comments:

Post a Comment